राफेल पर राहुल गांधी का नया दांव, मोदी सरकार की बढ़ सकती है मुश्किले…

पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद एक बयान के बाद भारत में खलबली मची हुई है। बीते महीने से मजे इस हंगामे के बाद हुआ विवाद अब तक थमने का नाम नहीं ले रहा है। गौरतलब है कि साल 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और राफेल डील पर हुआ यह खुलासा बीजेपी के लिए काफी खतरनाक साबित होने वाला है।

1- राफेल डील बीजेपी के लिए साबित होगी खतरनाक

इस बात का फायदा कांग्रेस को जरूर मिलेगा क्योंकि साल 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने भी यूपीए सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार के बड़े बड़े आरोप लगाए थे। जिसे की साबित करने में बीजेपी आज तक कामयाब नहीं हो पाई लेकिन। अब बीजेपी अपने जाल में खुद ही फंसती जा रही है। आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने करीबी अनिल अंबानी की मदद करने के लिए जो काम किया था। वह फ्रांस सरकार के पूर्व राष्ट्रपति ने खुद ही जगजाहिर कर दिया है।

2- कांग्रेस अध्यक्ष ने चला नया दांव

हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में नया दांव खेलते हुए राफेल डील को भारत में बढ़ रही बेरोजगारी से जोड़ दिया है। इस कड़ी में राहुल गांधी 13 अक्टूबर को HAL के कर्मचारियों को साथ लेकर कर्नाटक बेंगलुरु में कैंडल मार्च निकालने जा रहे हैं। इस मामले में कांग्रेस नेता जयपाल रेड्डी ने जानकारी देते हुए बताया है कि मोदी सरकार द्वारा किए गए घोटाले के सबसे बड़े पीड़ित HAL के कर्मचारी हैं।

3- HAL के कर्मचारियों के साथ राहुल घेरेंगे मोदी सरकार को

आपको बता दें कि HAL में काम कर रहे 10 हजार कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है। जिसके चलते उनके सर पर बेरोजगारी का संकट आ खड़ा हुआ है। लेकिन इस कड़ी में कांग्रेस ने मोदी सरकार पर अंबानी ग्रुप को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया है। आपको बता दें की अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस को यह डील HAL से रद्द होने के बाद ही मिली थी।

4- सुप्रीम कोर्ट ने भी मोदी सरकार से माँगा जवाब

आपको बता दें कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने भी केंद्र सरकार को राफेल डील की जानकारी सार्वजनिक करने का आदेश दिया है। इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार को 29 अक्टूबर तक का वक्त दिया है और इस मामले में अगली सुनवाई 31 अक्टूबर को होने वाली है कोर्ट का कहना है कि मोदी सरकार इस मामले में जुड़ी सारी जानकारी एक सीलबंद लिफाफे में कोर्ट के समक्ष पेश करें।

Facebook Comments