महागठबंधन को लेकर Aimim ने पहली बार किया खुलासा, मच गया हड़कंप

देश में होने वाले वाले अगले लोकसभा चुनाव में यूपी का काफी अहम रोल होने वाला है. बता दें कि पिछले लोकसभा चुनाव में यूपी की जनता ने मोदी को दिल खोलकर वोट दिया था, जिसकी बदौलत भाजपा केंद्र की सत्ता में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने में कामयाब रही. ऐसे में अब अगर भाजपा को एक बार फिर से सत्ता में वापसी करना है तो उसे यूपी में ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतनी होंगी.

1- यूपी का अहम रोक

वहीँ यूपी में चुनाव को लेकर सरगर्मियां बढ़ती जा रही है. दरअसल यहाँ पर भाजपा को रोकने के लिए बिहार की तर्ज पर महागठबंधन की बात सपा की ओर से की जा रही है. फिलहाल इस महागठबंधन में बसपा शामिल होती है या नहीं, यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि अगर यूपी में महागठबंधन नहीं होता है टी इसका सीधा सीधा फायदा भाजपा को होने वाला है और नुकसान सपा और बसपा को उठाना पड़ेगा.

2- ओवैसी करेंगे यूपी में सभा

इस बीच ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी भी यूपी में बड़ा रोल निभा सकते हैं, दरअसल इन दिनों ओवैसी अपनी पार्टी ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन का यूपी में विस्तार करना चाहते हैं. ऐसे में अब उन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में करीब 100 जनसभा करने का फैसला किया है.

3- महागठबंधन में शामिल होने की कोशिश

असदुद्दीन ओवैसी की इन जनसभा की शुरुआत 22 अक्टूबर से होने वाली है. ओवैसी की पहली जनसभा इलाहाबाद में होगी. बताया जा रहा है कि ओवैसी की यह जनसभा मुस्लिम बहुल्य सीटों पर होने वाली है. अपनी इस जनसभा पर पार्टी का कहना है कि वह हमेशा भाजपा का खुलकर विरोध करती है और बाकी की पार्टियाँ महज़ चुनाव में भाजपा को हराना चाहती हैं. वहीँ इस बार के चुनाव में ओवैसी की पार्टी भी महागठबंधन में अपनी जगह तलाश करने की कोशिश में है.

Facebook Comments