नीतीश कुमार को लगा बड़ा झटका, तेजस्वी समर्थको में खुशी की लहर…

देश में होने वाले अगले लोकसभा चुनाव में बहुत कम वक़्त बचा है. फ़िलहाल इसे लेकर एक तरफ जहाँ भाजपा एक बार फिर से मोदी लहर चलाने की कोशिश कर रही है तो दूसरी तरफ विपक्ष का मकसद है भाजपा को एक बार फिर से सत्ता में आने से रोकना. ऐसे में अब देश भर में विपक्षी एकता की बात हो रही है. वहीँ बात अगर यूपी की करें तो यहाँ से भाजपा को सबसे ज्यादा सीटें मिली थी. यूपी की सीटों की बदौलत ही भाजपा पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में आने में कामयाब रही.

1. चुनाव से पहले नीतीश को झटका

दरअसल यहाँ पर एक तरफ जहाँ भाजपा से मुकाबला करने के लिए बिहार की तर्ज पर महागठबंधन बनाने की बात हो रही है तो दूसरी तरफ आप सियासत परवान चढ़ती दिख रही है. दरअसल चुनाव से ठीक पहले सीएम नीतीश कुमार को बड़ा झटका लगा है. दरअसल इन बड़े और दिग्गज नेता ने पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया है. दरअसल हम बिहार विधान परिषद के पूर्व उपसभापति और जदयू के नेता सलीम परवेज की बात कर रहे हैं.

2. वरिष्ठ नेता ने छोड़ी पार्टी

बिहार विधान परिषद के पूर्व उपसभापति और जदयू के नेता सलीम परवेज ने राजद से खुद को अलग कर लिया है. लेकिन इसके साथ ही उन्होंने एक बड़ा झटका देते हुए लालू की पार्टी राजद का हाथ थाम लिया है. ऐसे में अब चुनाव से ठीक पहले बिहार विधान परिषद के पूर्व उपसभापति और जदयू के नेता सलीम परवेज के पार्टी में शामिल होने वाले राजद को बड़ा फायदा मिलने वाला है.


3. राजद में हुए शामिल

वहीँ यह कदम उठाने के बाद सलीम परवेज ने सीएम नीतीश कुमार को भरोसा तोड़ने वाला बताया है. उन्होंने कहा है कि भाजपा को सत्ता में लाकर उन्होंने बिहार की जनता के जनादेश का अपमान किया है. उन्होंने कहा है कि मैं खुद पार्टी में घुटन महसूस कर रहा था. इसके साथ ही उन्होंने राजद को गरीबी की पार्टी बताया है.

Facebook Comments