मुस्लिम युवाओ का ज़बरदस्त प्रदर्शन, 20 से ज़्यादा शहरों में जमकर कि..

केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार के राज में देश के मुसलमानों के साथ जिस तरह से भेदभाव किया जा रहा है उससे मुस्लिम समुदाय के लोग काफी परेशान हो चुके हैं। इस वक्त देश के अल्पसंख्यकों की हालत काफी चिंताजनक है। बीजेपी शासित राज्यों में मुसलमानों के खिलाफ मॉब लिंचिंग की घटनाएं सामने आती रहती हैं।

1- मॉब लिंचिंग के खिलाफ एकत्र हुए मुस्लिम संगठन

गौरतलब है कि मोदी सरकार के राज में देश के हिंदूवादी संगठन खुलेआम गुंडागर्दी कर रहे हैं और मुस्लिम समुदाय के लोगों को निशाना बना रहे हैं। बीजेपी सरकार भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है अब तक मासूम मुस्लिम मॉब लिंचिंग के नाम पर अपनी जान गवा चुके हैं।

2- मुस्लिम युवाओं ने किया विरोध प्रदर्शन

अब खबर सामने आई है कि भारत की राजधानी दिल्ली में अल्पसंख्यक क्यों के खिलाफ हो रहे भेदभाव के चलते मुस्लिम युवाओं ने दिल्ली सहित देश के 20 से ज्यादा शहरों में विरोध प्रदर्शन किए हैं। खबर के मुताबिक भारत के हजारों मुस्लिम युवाओं ने दिल्ली स्थित पार्लियामेंट स्ट्रीट के साथ देश के 20 से ज्यादा शहरों में वोट हमारा बात हमारी सभी शहरी बराबर की हैश टैग की प्ले कार्ड के जरिए अपना विरोध जाहिर किया है।

3- मुसलमानों के साथ हो रहा भेदभाव

इस विरोध प्रदर्शन में मुस्लिम युवाओं ने अल्पसंख्यक योग के साथ साथ दलितों के साथ हो रहे भेदभाव के खिलाफ भी प्रदर्शन किया उन्होंने केंद्र सरकार से अपने अधिकारों की रक्षा करने की मांग की है। विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए लोगों ने इस विरोध को अपना पहला कदम बताया है और सरकार को चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही मुसलमानों और दलितों के साथ हो रहे भेदभाव को रोका नहीं गया तो वह अनिश्चितकालीन विरोध प्रदर्शन करेंगे और यह प्रदर्शन पूरे भारत में किए जाएंगे।

4- उठाया समान अधिकारों का मुद्दा

इस प्रदर्शन में शामिल वक्ताओं ने मुसलमानों से अपील की है कि आने वाले चुनावों के चलते वोटरों को जागृत करने के लिए भी अभियान चलाये जाएंगे। गौरतलब है कि विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों की मुख्य मांग यह थी कि भारत का हर नागरिक को बराबर है और हर नागरिक को सम्मान और अधिकार बराबर मिलने चाहिए।

Facebook Comments