Most Powerful Motivational Story – By Sandeep Maheshwari In Hindi

88

Most Powerful Motivational Story – हर किसी को इस दुनिया में मोटिवेशन की जरूरत है क्योंकि बिना मोटिवेशन के कोई भी व्यक्ति आगे नहीं बढ़ सकता कोई भी व्यक्ति सफलता पाने के लिए किसी ना किसी से इंसपायर्ड क्या मोटिवेट होता है सेल्फ मोटिवेशन भी एक चीज है लेकिन वह कैसे आती है और हम उसे किस तरह महसूस कर सकते हैं सिर्फ मोटिवेटेड होने के लिए लोगों ने कई तरीके बताए हैं लेकिन आज इस पोस्ट में सबसे महत्वपूर्ण सेल्फ मोटिवेशन का एक कारण है इस कहानी को सुनने के बाद आप खुद ही मोटिवेट हो जाएंगे और यह एक ऐसी कहानी है जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे.

और आप जो भी काम करना चाहते हैं उस काम के हैं आप लग जाएंगे यह कहानी बहुत ही सिंपल और आसान है Most Powerful Motivational Story By Sandeep Maheshwari is the best Motivation story of his life which will motivated you also. हम किसी काम को नहीं कर पाते नहीं क्योंकि हम जब कुछ बड़ा करने की सोचते है जैसे आप कहते है मुझे तो चाँद पर जाना है मुझे एस्ट्रोनॉट बनाना है तो सब लोग आपका मजाक बनाते हुए कहते है तू रहने दें तू नहीं कर सकता है और इस तरह से हम नार्मल वर्क करें लगते हैजो आज कल सभी लोग करते है जैसे डॉक्टर या इंजीनियरिंग etc.

Most Powerful Motivational Story – Sandeep Maheshwari 

और शायद आपको याद हो या न हो पर बचपन में आपने अपने दादा-दादी या नाना-नानी से कई कहानियां सुनी होंगी और अपनी नर्सरी की बुक में पढ़ी होंगी लेकिन यह कहानी उन कहानियों से बिल्कुल अलग है Most Powerful Motivational Story इसलिए इसे कहते हैं. क्योंकि इस कहानी सब कुछ अलग है ये किसी से मिलती जुलती नहीं है. इस कहानी में 6 साल का लड़का आपकी पूरी सोच को बदल कर सकता है तो कहानी कुछ इस प्रकार है कि एक गांव था जिसमें ३ बच्चे रहते थे क्योंकि बचपन से ही साथ में थे जिसमें एक की उम्र 10 वर्ष और दूसरे की उम्र 6 वर्ष थी…..

और दोनों एक साथ रहते थे, खाते थे, पीते थे दोनों एक दूसरे के घर में आते जाते रहते थे और गांव के लोग भी इन्हें अच्छा दोस्त मानते थे. लेकिन एक बार क्या हुआ कि यह दोनों रोज की तरह खेलने के लिए जा रहे थे तभी मैं रास्ते में पतंग की दुकान देखी और इन दोनों ने एक पतंग खरीद ली और उस पतंग उड़ाने के लिए उन्होंने धागा भी खरीदा और धागे से पतंग को बांधकर पतंग उड़ाने लगे. पतंग को उड़ाते उड़ाते वह एक कुएं के आसपास पहुंच गए जहां पर 10 साल का लड़का उस पतंग उड़ा रहा था और छोटा 6 साल का लड़का उसे उड़ाते हुए देख रहा था….

तो जो बड़ा लड़का था वह पतंग उड़ाते उड़ाते उस कुएं में जा गिरता है और जैसे ही वह लड़का कुएं में गिरता है तो जो 6 साल का छोटा लड़का होता है वह तुरंत दौड़कर कुएं के पास जाता है और देखता है कि उसका दोस्त हुए के अंदर गिरा हुआ है जिसे तैरना नहीं आता है वह मदद के लिए अपने चारों ओर देखता है लेकिन चारों ओर कोई भी व्यक्ति नहीं होता है तो उसे पास में कुएं के पास में एक बाल्टी दिखती है जिस बाल्टी में एक रस्सी बंधी होती है और वह बिना सोचे समझे उस रस्सी को बाल्टी सहित कुएं में नीचे फेंक देता है और अपने दोस्त से कहता है.

Most Powerful Motivational Story in Hindi

कि इस बाल्टी को पकड़ लो मैं तुम्हें खींच लूंगा और वह छोटा सा 6 साल लड़का लड़का उस 10 साल के लड़के को अपनी पूरी जी जान लगा कर खींच लेता है अपने नन्हे नन्हे हाथों से उसको खींचता है. और इस तरह से वो उसे बचा लेता हैं जैसे ही वो लड़का बाहर निकलता है तो अपने दोस्त को गले लगाता है और दोनों जोर-जोर से रोने लगते हैं और उन्हें डर भी लगने लगता और सोचते हैं यदि यह बात हम अपने घरवालों को बताएंगे तो हमारी खूब पिटाई होगी और हमें आगे से खेलने नहीं जाने देंगे तो यही सोचते हुए दोनों लोग रोने लगे और रोते-रोते अपने घर पहुंच गए….

लेकिन जब उन्होंने गांव पहुंचकर इस बात को लोगों को बताया तो किसी ने उन पर विश्वास नहीं किया. जो लड़के सोच रहे थे उसका बिलकुल उल्टा ही हुआ क्योंकि एक छोटा सा लड़का जो पानी से भरी हुई बाल्टी भी नहीं उठा सकता वो इस 10 साल के भारी लड़के को कुएं से एक रस्सी की मदद से कैसे उसे बाहर खींच सकता है ? लेकिन एक समझदार बुजुर्ग ने उनका विश्वास क्या जिन्हे लोग रहीम चाचा बुलाते थे. और जो कभी भी झूठ भी नहीं बोलते थे लेकिन जब लोगो को पता चला की रहीम चाचा ने उन दोनों लड़कों की बात पर विश्वास कर लिया है…..

तो वो लोग इक्कठा हो कर रहीम चचा के पास गए और पूछने लगे ये कैसे हुआ तो उन्होंने कहा कि बच्चे बता तो रहे है उसने अपने दोस्त को कैसे बचाया लोगो को फिर भी विश्वास नहीं हुआ क्योंकि उनका सवाल गलत था सवाल ये नहीं वो ये कैसे कर पाया सवाल ये है कि क्यों कर पाया ? उसके छोटे से लड़के के अंदर वो ताकत कैसे आयी ? इस सवाल का केवल एक ही जवाब है कि जिस वक़्त इस बच्चे ने ये किया उस वक़्त पर दूर दूर कोई नहीं था जो ये कहे कि तू नहीं कर सकता ! कोई भी नहीं था वो खुद भी नहीं. और भी Stories के लिए यंहा Click करें…Click Here