मोदी के मंत्री ने अपनी ही पार्टी को दिया झटका, उतारे अपने 56 प्रत्याशी…

बिहार से भारतीय जनता पार्टी के लिए एक के बाद एक बुरी खबर सामने आ रही है। जहां एक तरफ जेडीयू ने आने वाले लोकसभा चुनाव के चलते सीटों के बंटवारे को लेकर बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वहीं अब एनडीए में सहयोगी दल राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने भी मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में उतरने का ऐलान कर दिया है।

1- मध्यप्रदेश चुनाव से पहले बीजेपी के लिए बुरी खबर

आपको बता दें कि बीजेपी और रालोसपा बिहार में गठबंधन में है। लेकिन 28 नवंबर को मध्यप्रदेश में होने वाले चुनाव में वह एक दूसरे के विरोध में चुनाव लड़ेंगे। बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर रालोसपा ने अपने 50 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है और माना जा रहा है कि मध्यप्रदेश में रालोसपा बीजेपी को चुनौती देगी।

2- रालोसपा ने लिया बड़ा फैसला

इस मामले में उपेंद्र कुशवाहा ने बीजेपी के नेताओं से मुलाकात कर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों में कुर्मी कुशवाहा प्रभावित सीटों पर चुनाव लड़ने की मंशा जताई थी। बीजेपी ने इस मामले में किसी भी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दी और ना ही उन्हें इन सीटों पर चुनाव लड़ने का आश्वासन दिया था इसीलिए उन्होंने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी से विपरीत जाने का फैसला लिया है।

3- बिहार में सहयोगी पार्टी मध्यप्रदेश में बनेगी विरोधी

बताया जा रहा है कि उपेंद्र कुशवाहा ने इस कदम को आने वाले लोकसभा चुनाव के लिहाज से बीजेपी पर दिमाग की रणनीति बनाने के लिए लिया है। क्योंकि हाल ही में बीजेपी ने उनकी बात को नजरअंदाज किया था। आपको बता दें कि पिछली बार उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा ने बिहार में 3 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करवाई थी।

4- पार्टी की मांग नहीं मानी थी बीजेपी ने

अब खबर सामने आ रही है कि बिहार में नीतीश कुमार भी बीजेपी से गठबंधन तोड़ने की रणनीति बना रहे हैं। रालोसपा राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष भगवान सिंह कुशवाहा ने दबाव की रणनीति वाली बात को खारिज करते हुए कहा कि ये हर पार्टी का अधिकार है कि वह अपने विस्‍तार के बारे में सोचे। इसलिए हमने मध्यप्रदेश में चुनाव लड़ने के फैसला लिया है।

Facebook Comments