VIDEO: Mobile के चार्जर में बने Symbol का मतलब क्या होता है ? सोचा है कभी इनका मतलब

दैनिक जीवन में हम काफी इलेक्ट्रॉनिक चीजों का प्रयोग करते हैं, लेकिन कभी हम ध्यान से नहीं देखते हैं कि इसके ऊपर क्या लिखा गया है? या इस पर जितने भी सिंबल बने हैं,इनका क्या मतलब होता है? उदाहरण के तौर पर एक मोबाइल चार्जर पर भी कई तरह के सिंबल बने होते हैं चार्जर की पिन भले एक जैसी होती हो लेकिन सभी प्रकार के चार्ज़रो में कुछ गुणवत्ता होती हैं और उस पर बने सभी सिंबल ओं का अपना एक मतलब होता है।आज हम आपको रोजमर्रा की ज़िंदगी मे प्रयोग किइस जाने वाले मोबाइल फ़ोन के चार्जर के बारे में बताएंगें,और आपको असली और नकली की पहचान कैसे की जाती है वह भी बताएंगे।

मोबाइल फोन चार्जर

अगर हम मोबाइल के चार्जर को ध्यान से देखें तो उस पर हमें कुछ तरह के सिंबल जैसे home symbol, v symbol, Square Symbol Etc. इसके अलावा और भी Symbol देखने को मिलेंगे इन सिबलों का महत्व होता है।

1. पहला सिम्बल स्क्वायर का होता है, इसे Double Insulated भी कहते हैं इसका मतलब होता है कि आपके चार्जर में जो तार है वो इस प्रकार डिजायन किए हुए है कि वो चार्जर के केस (Body) को न छू पाये जिससे आपको करण्ट न लग पाए। अगर आप एक Local Charger का Use करते हैं तो आपको वहाँ पर ऐसा देखने को नहीं मिलेगा।

2. होम स्टाइल Symbol के बनने का मतलब होता है कि उस चार्जर को आप केवल घर में ही इस्तेमाल कर सकते हैं उसे आप कहीं दूसरी जगह जहाँ पर हाई वोल्टेज आ रहा हो या फिर Direct Current आ रहा हो वहाँ पर उपयोग नहीं कर सकते हैं। इसके Blast होने का खतरा बना रहता है।

3. रोमन में लिखा हुआ 5 का अंक,जो चार्ज़रो ओर V स्टाइल में प्रतीत होता है,इसका मतलब होता है कि आपके चार्जर कि जो चार्ज करने की क्षमता (Power Supply Efficiency) है वो किस लेवल की है तो यह 5 का न. एक Standard No. होता है जो हर आॅरिजिनल चार्जर पर बना हुआ होता है।

4. Dustbin With Cross Symbol इसका मतलब यह होता है कि आप इस प्रोडक्ट को किसी भी कूड़ेदान या इधर-उधर नहीं फेंक सकते, इसके खराब हो जाने पर आपको उस कंपनी को यह प्रोडक्ट वापस कर देना चाहिए जिसने इसे बनाया है ताकि वो वापस से इसे Recycle कर सके। इन सब सिम्बल का महत्वता है, इसीलिए हर किसी को इन सिंबलओं को देखना चाहिए और उनके लाभ के बारे में समझना चाहिए। इन जानकारियों के माध्यम से अपने चार्जर की गुणवत्ता की पहचान कर सकते हैं और चार्जर को किस वोल्टेज में लगाना चाहिए और किस वोल्टेज में नहीं लगाना चाहिए इसका भी ध्यान आसानी से रख सकते हैं।

Facebook Comments