Godi Media में चलरही दलाली पर सनसनीखेज खुलासा। महिला News Anchors का कला सच

मौजूदा दौर में सरकार के बाद अगर किसी की विश्वसनीयता पर सबसे ज्यादा खतरा मंडरा रहा है तो वह है देश की मीडिया. इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि आज के दौर की मीडिया ने पत्रकारिता का नाम मिटटी में मिला दिया है. यूँ तो पत्रकारों और पत्रकारिता का काम अपने सवालों की कसौटी पर सरकार को कसना था.

1. पत्रकारिता की विश्वसनीयता खतरे में

लेकिन आज के समय की मीडिया से सरकार से सवाल करने की उम्मीद ही जनता ने छोड़ दी है. गिनती के कुछ गिने चुने पत्रकारों को छोड़ दें तो कमोबेश सभी पत्रकार और मीडिया संस्थान सरकार की भक्ति में लीन नज़र आ रहे हैं. बड़ी बात यह है कि आज मीडिया के क्षेत्र में पत्रकारों की नौकरी पर भी खतरा मंडराने लगा है.

2. सरकार से सवाल करना पड़ा महंगा

दरअसल सरकार से सवाल करने और उसकी नीति पर सवाल उठाने वापे पत्रकारों को नौकरी से निकाला जा रहा है. ऐसे में कई मामले सामने आ चुके हैं, जब सरकार पर सवाल उठाने वाले पत्रकारों को नौकरी से हाथ धोना पड़ है.

3. जा रही है नौकरी

सबसे हालिया मामला एबीपी न्यूज़ के पत्रकार पुन्य प्रसून और अभिसार शर्मा का है. कहा जा रहा है कि सरकार के झूठ का पर्दाफाश करने इन लोगों को महंगा पड़ गया और सरकार के दबाव में आकर इन लोगों को चैनल ने नौकरी से निकाल दिया. बड़ी बात रह रही कि यह मामला संसद में भी उठाया गया. ऐसे में अब ऐसे प्रकरण को ध्यान में रखकर आप आज की मीडिया और उसकी जिम्मेदारियों का अंदाजा लगा सकते हैं.

इस बीच अब बर्खास्त पत्रकार अभिसार शर्मा का एक वीडियो सामने आया है. बता दें कि अभिसार सह्रमा अक्सर सोशल मीडिया के ज़रिये लोगों से बातचीत करते रहते हैं और सरकार की नाकामियों पर सवाल उठाते रहे हैं. अब उन्होंने एक और वीडियो शेयर किया ह. इस नए वीडियो में वह पत्रकारों के बारे में बात करते हुए नज़र आ रहे हैं.

Facebook Comments