एक महान आदमी एक प्रतिष्ठत आदमी से इस तरह से अलग होता है – डॉ. भीम राव रामजी अम्बेडकर के कथ्य

डॉ. भीम राव रामजी अम्बेडकर के वचन: एक महान आदमी एक प्रतिष्ठत आदमी से इस तरह से अलग होता है की वह समाज का नौकर बनने को तैयार रहता है|

Dr. B.R Ambedkar Good Thoughts: A Great Man is Different From A Respected Man In such A way That He Is Prepared To Become A Servant Of society.

डॉ. भीम राव रामजी अम्बेडकर के वचन

B R Ambedkar Best Thoughts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here