कर्नाटक सरकार को लगा बड़ा झटका, इस पार्टी ने छोड़ा कांग्रेस का साथ

कर्नाटक की सियासत में इन दिनों काफी उतार चढ़ाव देखने को मिल रहा है. बता दें कि यहाँ विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद भी यहाँ पर काफी सियासत ड्रामा हुआ था और राज्यपाल की मदद से यहाँ पर भाजपा सरकार बनाने में कामयाब हो गई थी. हालाँकि भाजपा के पास यूँ तो सबसे ज्यादा सीटें थे लेकिन सरकार बनाने लायक उसके पास बहुमत नहीं था. बावजूद इसके राज्यपाल ने पहले उसे सरकार बनाने के न्योता दिया था.

1. फिर गर्मा सकती है कर्नाटक की सियासत

ऐसे में राज्यपाल के इस कदम के खिलाफ कांग्रेस से सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था. बाद इसके कोर्ट ने भाजपा को एक निश्चित समय के भीतर सरकार बनाने लायक बहुमत साबित करने का आदेश था लेकिन फिर भाजपा तय समय के भीतर बहुमत साबित नहीं कर पाई और ऐसे में जिस तेज़ी से सरकार बनाई गई थी, उसी तेज़ी के साथ भाजपा सरकार गिर और.

2. बसपा के मंत्री ने दिया इस्तीफा

बाद इसके जनता दल (एस)-कांग्रेस ने सूबे में मिली जुली सरकार बनाई. इस गठबंधन में मायवती की पार्टी बसपा भी शामिल थी और सरकार बनने के बाद सरकार में बसपा के विधायक एन महेश को मंत्री बनाया गया था. लेकिन अब खबर आ रही हैं कि कर्नाटक सरकार में शामिल बसपा के अकेले मंत्री एन महेश ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. हालाँकि उसके इस्तीफे की वजह निजी कारण को बताया जा रहा है.

3. बताया निजी कारण

वहीँ कहा यह भी जा रहा है कि भले ही बसपा से खुद को सरकार से अलग कर लिया है लेकिन फिलहाल बसपा जनता दल (एस)-कांग्रेस के गठबंधन को अपना समर्थन देती रहेगी. वहीँ दिलचस्प बात यह है कि एन महेश ने कहा है कि इस्तीफ़ा देने के को लेकर उनकी बसपा चीफ मायावती से कोई बात नहीं हुई है. ऐसे में अब सभी मायावती और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की तरफ से आने वाले बयान का इंतज़ार है.

Facebook Comments