भाजपा में शामिल होने पर शिवपाल सिंह ने कही यह बात ,सपा में दौड़ी शोक कि लहर

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी को एक झटका लगा है और पुरानी खींचतान जो पार्टी में चली आ रही थी वो फिर उभर आयी है। आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी से टूटकर शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है।

1- भाजपा में जाने की आयी खबर

समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के गठन के साथ ही बहुत से ऐसे नेता जो समाजवादी पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व से नाराज़ थे शिवपाल के साथ आ गए हैं। शिवपाल सिंह यादव के नेतृत्व में बने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के बारे में ऐसी भी ख़बरें आने लगीं थीं कि वो भाजपा के साथ जा सकते हैं।

2- खुलकर बोले शिवपाल

समाजवादी पार्टी में एक क़द्दावर नेता माने जाने वाले शिव पाल ने अपनी ही पार्टी से अलग होने का फैसला किया तो ये बातें तो होनी ही थीं कि वो भाजपा में जा सकते हैं. जब उनसे इस बाबत सवाल किया गया तो उन्होंने इन सवालों का खुल कर जवाब दिया.शिवपाल यादव ने साफ़ बात करते हुए कहा कि हम समाजवादी लोग हैं और भाजपा के खिलाफ काम करते रहे हैं. उन्होंने कहा,”हम सेक्युलर (धर्म निरपेक्ष) लोग हैं और हम हमेशा से बीजेपी के खिलाफ रहे हैं। हम पुराने ‘सेक्युलर’ समाजवादी हैं और बीजेपी में शामिल होने का सवाल ही नहीं उठता।’’

3- भाजपा को लगा झटका

शिव पाल के इस बयान से भाजपा नेताओं की उन उम्मीदों पर पानी फिर गया जिसकी वजह से वो खुश थे. शिवपाल ने अपने बयान में बात साफ़ तरह से रख कर ये कह दिया है कि वो कोई कट्टरवादी राजनीति नहीं करने जा रहे और वो समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के तहत काम करेंगे.

4- क्या कहा केशव प्रसाद मौर्या ने..

उत्तर प्रदेश के डिप्टी मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा था कि शिवपाल चाहें तो भाजपा के साथ आ सकते हैं. उन्होंने कहा था कि वे चाहें तो बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं। अब शिवपाल सिंह ने बीजेपी में शामिल होने पर सीधी तौर पर मना कर दिया है।

Facebook Comments